“ट्यूमर या नहीं” – वर्णनकर्ता – स्मृति बाली

जय गुरुजी महाराज गुरुजी – हमारे लिए सिर्फ एक शब्द नहीं बल्कि दुनिया है। मेरे परिवार में हम 3 बहनें हैं और मेरी मां, मैं सबसे छोटी हूं। हम सभी…

क्रोध का बोध

जैसे शान्ति का भाव जीवन में आवश्यक है, उसी प्रकार क्रोध भी जीवन का आवश्यक अंग है।  लेकिन, इस एक पंक्ति के आधार पर किसी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले,…

“उनकी कृपा अपरंपार है, असीम है” – वर्णनकर्ता – डॉ कपिल खुराना

जैसा कि कोई अन्य सामान्य भारतीय जो विदेश में बसता है, मेरी बेटी करीना के लिए मैंने भी एक गवर्नेस रखी। 2012 की शरद ऋतु से नौकरी में कुछ दिक्कतें…